November122019

क्या सेलफोन पौरुष के घटने का कारक बन रहे हैं?

इस बारे में अधिकतर लोगों के विचार स्पष्ट नहीं हैं.

क्या मेरी जीन्स में सेलफोन रखना मेरी प्रजनन क्षमता के लिए हानिकारक है?

हाल ही में किये गए एक सर्वेक्षण के नतीजों से स्पष्ट होता है कि यदि पुरुष दिन के समय अपनी जेब में फ़ोन रखें, तो लगभग 47% केसेस में उनकी यौन क्षमता पर बुरा असर पड़ सकता है.

यह जानकारी रोंगटे खड़े कर देने वाली है!

यदि कोई आदमी दिन में मात्र एक घंटे के लिए भी सेलफोन का इस्तेमाल करे, तो शुक्राणुओं की संख्या ख़ासा रूप से घट सकती है.

शोध के नतीजों से यह भी पता चलता है कि यदि सेलफोन अंडाशय  के पास है, या फिर शरीर से एक या दो फीट की दूरी पर है, तो भी शुक्राणुओं की संख्या इतनी घट सकती है कि दम्पति को गर्भ धारण में तकलीफ होने की संभावना रहती है.

इस समस्या से उबरने का एक स्पष्ट उपाय यह है कि यदि आप ऑफिस में सूट पहनते हैं, तो मोबाइल फ़ोन को पतलून के बजाए जैकेट की जेब में रखिए. इससे शुक्राणुओं की संख्या नहीं घटेगी, या फिर अधिक मात्रा में नहीं घटेगी!

शोध के नतीजों से एक अन्य महत्वपूर्ण जानकारी यह मिलती है कि सेलफोन का पुरुषो की प्रजनन क्षमता पर प्रभाव 11% केसेस में पड़ता है. इसके विपरीत, यदि सेलफोन अंडाशय के पास हो, तो प्रभाव 47% केसेस में पड़ सकता है.

आइए शोध के नतीजों पर हम एक नज़र डालें.

डॉक्टर्स की एक टीम की देखरेख में, 100 लोगों ने एक साल तक फर्टिलिटी क्लिनिक अटेंड किया.

टेक़नीओन यूनिवर्सिटी से प्रोफेसर मार्था डार्नफेल्ड के अनुसार, डॉक्टर्स ने विश्लेषण किया सक्रीय शुक्राणुओं का, और इसके साथ साथ शुक्राणुओं की गुणवत्ता का. शुक्राणुओं की इन मापदंडों पर कुछ कमी सामने आई है.

प्रोफेसर ने स्पष्ट किया इसका कारण है शुक्राणुओं का सेलफोन के द्वारा गर्म होना, और इसके साथ साथ सेलफोन के कारण होने वाली विद्युतीय गतिविधी.

शोध के नतीजों से यह जानकारी मिलती है कि कुछ अन्य क्रियाएं जो कि शुक्राणुओं के स्वास्थ के लिए हानिकारक हैं, वो हैं सेलफोन का तब इस्तेमाल करना जब कि वो चार्ज हो रहा हो, या फिर सेलफोन को बिस्तर के पास रखना.

इस शोध के बारे में आप रीप्रोडक्टिव बायोमेडिसिन नामक जरनल में पढ़ सकते हैं. इससे प्रजनन क्षमता के घटते रेट और सेलफोन के इस्तेमाल में एक स्पष्ट लिंक सामने आता है.

एक अन्य तथ्य जिसपर हमें ध्यान देना चाहिए वो यह है कि जब किसी युगल को गर्भ धारण में तकलीफ होती है, तब पुरुषों की घटती प्रजनन क्षमता के रेट को आप लगभग 40% केसेस में ज़िम्मेदार ठहरा सकते हैं.

जैस कि प्रोफेसर मार्था डार्नफेल्ड ने प्रकट किया, हमारे पास ऐसा मानने के कारण हैं कि स्त्रियों के केसेस में मोबाइल फ़ोन प्रजनन क्षमता पर बुरा असर नहीं डालते हैं, क्योंकि उनका फ़ोन अधिकतर हैंडबैग में रहता है.

लेकिंग पुरुषों के केस में, फ़ोन को बेडसाइड टेबल पर ना रखना, या फिर अपनी शॉर्ट्स या पजामे की जेब में ना रखना इस समस्या से उबरने के सबसे मूलभूत उपाय हो सकते हैं.

वैज्ञानिकों और इस मामले में जानकार लोगों से बातचीत करने पर यह पता चला कि कम उम्र के पुरुष इस समस्या से अधिक पीड़ित हैं. यदि किसी युगल को गर्भधारण में तकलीफ का सामना करना पड़ रहा है, या फिर यदि इस समस्या से आप एक वर्ष से अधिक समय तक परेशान रहे हैं, तो यह निर्धारित रूप से एक ऐसा मामला है जिसपर गौर करना चाहिए!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X